July 2, 2020
  • facebook
  • twitter
  • linkedin
  • pinterest
  • instagram

Author: Team TSD

गाँधी होने में “एक उम्र” लगती है, गोडसे तो “एक पल” में हुआ जा सकता है

आज के समय में गाँधी और गोडसे की बहस अक्सर चुनावों के बीच ही सुनाई देती है। हो भी क्यों न, अब भला वो चाय की गुमटियों और कॉफ़ी हाउस जैसी जगहों में होने वाली वैचारिक और राजनीतिक बहसों की विरासत बची ही कितनी है? खैर! देश में लोकसभा चुनावों का मौसम है, और जैसा […]

सफ़र दिल्ली के “खान मार्केट” का जो शायद बन सकता है ‘नाम बदलने की प्रथा’ का अगला शिकार?

आपको शायद सुनकर थोडा अजीब लगे लेकिन 1947 में जब देश का विभाजन हुआ, तब उसके चलते लाखों लोगों को बेघर होना पड़ा। और तब देश में रिफ्यूजी कॉलोनियों ने ऐसे लोगों के जीवन के पुनर्निर्माण में अहम भूमिका निभाई थी। और ऐसी ही एक रिफ्यूजी कॉलोनी थी आज का ‘खान मार्केट’, जो आज एशिया […]

You can ban us, but you can’t stop us: TikTok

Many would think the last few quarters have not been very good to TikTok. After all, the company paid out a fine of $5.7 Mn to the FTC, had to restrict its usage policies for under 13s, and even ended up getting banned in one of its biggest markets – India. However, despite all this […]

किसी की हत्या के बाद ही क्यूँ समझ आती है ‘छेड़छाड़’ जैसी घटनाओं की गंभीरता?

हाल ही में दिल्ली के मोती नगर इलाके में हुआ ध्रुव त्यागी हत्याकांड काफ़ी सुर्खियों में है। दिल्ली समेत कई पुरे देश में इसको लेकर आक्रोश और विरोध दर्ज करवाया जा रहा है, जो बिल्कुल जायज है। इस घटना के बारे में कुछ टिप्पणी करने से पहले हम आपको घटना के बारे में एक संक्षिप्त […]

लोगों की जीवनशैली से ‘काम’ हटाएं और फंडिंग ले जाएँ

इस बात में कोई संशय नहीं कि वर्तमान समय में युवाओं के बीच स्टार्टअप को लेकर काफ़ी जोश और जुनून देखने को मिलता है। यह जायज भी है, क्यूंकि दौलत और शोहरत एक साथ कमाने का इससे बेहतर विकल्प शायद ही युवाओं को कहीं और मिले। लेकिन अब स्टार्टअप तंत्र में भी सफ़लता के मौके […]

शायद आज देश को है ऐसे ही राजनीतिक परिवेश की जरूरत, जैसी मिसाल प्रियंका गाँधी ने कायम की

भारतीय राजनीति की शुरुआत भले ही आज आदर्श बन चुके आचरणों के साथ हुई हो, लेकिन वर्तमान समय तक परिस्थितियों में काफ़ी परिवर्तन हुआ है। यह परिवर्तन अधिकांश रूप से सुखद नहीं कहा जा सकता। जिस प्रकार से राजनेताओं द्वारा एक दूसरे पर भद्दी टिप्पणियों के सिलसले आम से होते जा रहें हैं, उससे सबसे […]

Migration : A new global challenge

All around the globe from Myanmar to South Sudan to Venezuela, more and more people are fleeing from their country for their lives or escaping from the poverty than ever before though their chances of finding safety and security in terms of living wages are shrinking as the western world is repeatedly making newer policies […]

In the world of alternative careers, here is how you can turn your hobby into a job

“Ma, I want to be a writer.” “Why do I have to take engineering when I like dancing?” How many of us have faced questions like this? Unless you were born after 2010 (in which case it is unlikely that you would be reading this article), you must have put questions like this to your […]

क्या वाकई दिल्ली के पास है ‘पूर्ण राज्य’ हासिल करने का मौका? या है महज़ संभवनाओं में पिरोया सपना?

देश की राजधानी होने के नाते दिल्ली हमेशा से ही लोकसभा चुनावों के दौरान सुर्खियाँ पैदा करने वाला राज्य साबित होता है। और इस बात के लोकसभा चुनाव तो दिल्ली के लिए और भी खास हैं। दरसल इस बार लोकसभा चुनावों में दिल्ली की सात सीटों पर पूर्व चुनावों की तरह महज़ कांग्रेस और भाजपा […]

जब सभी हैं चौंकीदार तो फ़िर क्यूँ है बेरोजगारी और भ्रष्टाचार?

देश में आजकल चौंकीदार बनने का जुनून सा सवार है। और यह एक अच्छी बात होती, अगर यह जुनून वाकई में इस पेशे को लेकर होता। क्यूंकि यह चंद उन पेशों में से है, जिसको आज भी ईमानदारी और इज्ज़त की नज़रों से देखे जाना चाहिए और जाता भी है। लेकिन आज राजनीति के चलते […]
Page 32 of 33« First...1020«2930313233 »
Don`t copy text!