लोगों, बाज़ार व अर्थव्यवस्था के बाद अब ‘क्रिप्टोकरेंसी’ भी कोरोना वायरस की चपेट में

  • by Staff@ TSD Network
  • March 13, 2020
coronavirus-covid19-outbreak-hits-bitcoin-cryptocurrencies

कोरोना वायरस ने हर तरीकें से इंसानी ज़िंदगियों को प्रभावित करना शुरू कर दिया है। इसका प्रकोप लोगों की ज़िंदगियों, दुनिया भर के बाजारों और अर्थव्यवस्था के बाद अब क्रिप्टोकरेंसी पर भी पड़ता नज़र आ रहा है।

दरसल डिजिटल करेंसी या कहें तो क्रिप्टोकरेंसी का दूसरा नाम बन चुका Bitcoin भी अब कोरोना वायरस की चपेट में आ चुका है। और इसका प्रभाव कुछ ऐसा है कि दुनियाभर के बाज़ार में बिक्री में आई भारी गिरावट के चलते अब Bitcoin की कीमत लगभग $5000 तक सिमट गई है।

यह करीब 1 साल में Bitcoin की कीमतों में आई सबसे अधिक गिरावटों में से एक है। साथ ही अन्य क्रिप्टोकरेंसियों की कीमत में भी भारी गिरावट दर्ज की गई है।

cryptocurrency-hits-by-coronavirus

सोर्स: coin360

वैसे विशेषज्ञों की मानें तो हाल ही में अमेरिकी सरकार द्वारा कोरोनो वायरस के प्रकोप के चलते अपनाए जाने वाले उपायों की वजह से ही पारंपरिक बाजारों के साथ ही साथ क्रिप्टोकरेंसियों में भी गिरावट दर्ज की जा रही है।

इस बीच Bloomberg में छपी एक रिपोर्ट के मुताबिक क्रिप्टो एक्सचेंज Luno के सिंगापुर के बिज़नेस डेवलपमेंट प्रमुख, विजय अय्यर ने कहा,

“मौजूदा हालातों में निवेशक किसी भी जोखिम भरी संपत्ति से बाहर निकल रहे हैं। और ऐसे में कभी सोने के सामान सुरक्षित संम्पत्ति समझा जाने वाला Bitcoin भी अधिक जोखिम वाली संपत्ति के ही रूप में देखा जा रहा है।”

साथ ही दुर्भाग्यपूर्ण रूप से यह है कि कोरोना वायरस के संक्रमण के कम होने के कोई भी संकेत फ़िलहाल नज़र नहीं आ रहें हैं और जिसके चलते क्रिप्टोकरेंसी में भी यह गिरावट कुछ समय तक जारी रहने का अनुमान है।

हाल में डोनाल्ड ट्रम्प द्वारा अमेरिका और यूरोप के बीच यात्रा पर 30 दिन का प्रतिबंध लगाने की घोषणा के बाद से शेयर बाज़ार से लेकर अन्य बाज़ारों में इसका व्यापक असर देखने को मिल रहा है। आपको बता दें ट्रम्प की हाल ही की घोषणा के बाद शुरुआती कारोबार में 7% से अधिक की गिरावट के साथ अमेरिका भर के शेयर बाजारों में गुरुवार सुबह से ही गिरावट जारी रही।

साथ ही आज बेंगलुरु में Google India के एक कर्मचारी में कोरोना वायरस के संक्रमण की पुष्टि हुई। दुर्भाग्यपूर्ण रूप से यह कर्नाटक में कोरोना वायरस के संक्रमण का 5वाँ और देश का करीब 80वाँ मामला है।

Google India ने उस बेंगलुरु कार्यालय के सभी कर्मचारियों को आज घर से काम करने के निर्देश दिए हैं। साथ ही देश में कोरोवायरस के डर से Flipkart, Paytm सहित Wipro और Tech Mahindra जैसी कई आईटी कंपनियों ने भी अपने कर्मचारियों को घर से ही काम करने की सलाह दी है। इससे पहले बेंगलुरु में Mindtree और Dell के दो कर्मचारियों में भी कोरोना वायरस के संक्रमण की पुष्टि हुई थी।

साथ ही देश की केंद्र और राज्य सरकारों ने भी इस दिशा में कई कदम उठाएं हैं। उदाहरण के लिए दिल्ली, केरल और हरियाणा सरकार ने कोरोना वायरस संक्रमण को महामारी घोषित किया है। वहीँ दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने गुरुवार को सभी स्कूलों, कॉलेजों और सिनेमा हॉलों को 31 मार्च तक बंद रखने का भी आदेश दिया है। साथ ही उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री ने भी 22 मार्च तक प्रदेश भर के स्कूलों, कॉलेजों को बंद रखने का ऐलान किया है।

आँकड़ो के तौर पर देखें तो अब तक COVID-19 संक्रमण से दुनिया भर में 127,000 से अधिक लोगों के प्रभावित होने की पुष्टि हुई है। और यह संख्या लगातार बढ़ रही है, ख़ासकर WHO द्वारा इसको महामारी क़रार दिए जाने के बाद से।

Facebook Comments
Staff@ TSD Network

Our hard-working staff writing team | You can reach us at 'contact@tsdnetwork.com'
  • facebook
  • twitter
  • linkedIn
  • instagram