‘CAA & NRC’ – वो ज़िंदगियाँ जो वाकई प्रभावित हुईं!

  • by Staff@ TSD Network
  • February 16, 2020
indias-new-citizenship-law-created-a-crisis-insight

नागरिकता संशोधन कानून (Citizenship Amendment Act) और नेशनल रजिस्टर ऑफ सिटिजन (National Register of Citizens) इसका नाम तो देश में लगभग सभी ने सुन ही लिया होगा।

हाँ वहीँ! CAA और NRC, दरसल इसको लेकर आज पूरे देश में दो मत नज़र आ रहें हैं। कुछ लोग इसके समर्थन में हैं तो कुछ लोग इसके खिलाफ़। दोनों पक्ष अपने अपने तर्क दे रहें हैं।

लेकिन अक्सर होता है कि हम इन्हीं पक्षों को सोशल मीडिया या टीवी पर सुनकर CAA और NRC पर अपना मत बना लेते हैं या तो पक्ष या विपक्ष में। पर क्या ये सही है? शायद आपने CAA और NRC को लेकर कुछ सरकारी दस्तावेज़ों को पढ़ा हो? या फ़िर हो सकता है आपने इसके पक्ष-विपक्ष में टीवी में कुछ लोगों के तर्कों से प्रभावित होकर अपनी भी एक राय बना ली हो?

लेकिन इसका एक और पहलु भी है, उन लोगों की ज़िंदगियाँ, उनकी कहानी, उनके हालात जो वाकई इसके चलते प्रभावित हुए हैं। आप सब जानते ही होंगें देश में कुछ समय पहले ही असम राज्य में NRC लागु की गई।

इसको लेकर आपने कई आँकड़ो का जिक्र भी सुना ही होगा। लेकिन आँकड़ो और तर्कों से अलग क्या कभी आपने जानना चाहा कि असलियत में असम में क्या हुआ? कैसे लोग प्रभावित हुए? कैसे पत्नी को तो देश का नागरिक मान लिया गया लेकिन पति हो नहीं? कैसे एक ही परिवार के सभी लोगों को देश का नागरिक घोषित कर दिया गया लेकिन उनका ही 12 साल के बेटा नागरिकता की लिस्ट से गायब हो गया?

शायद आपको सुनने भर में ही अजीब सा लग रहा हो? लेकिन कभी सोचा है उन परिवारों के बारे में जिनपर ये सब बीता? कभी सुनी है उनकी कहानी उन्हीं की जुबान से?

असल में CNA Insider ने एक ऐसी ही कोशिश की। इस मुद्दे पर और ज्यादा कहना सही नहीं, वरना आप इस विडियो से पहले भी पक्ष या विपक्ष की भूमिका बना सकतें हैं। दरसल हम चाहतें हैं आप सभी पक्ष-विपक्ष की भूमिका को अलग रखते हुए एक बार यह विडियो देखें;

Facebook Comments
Staff@ TSD Network

Our hard-working staff writing team | You can reach us at 'contact@tsdnetwork.com'
  • facebook
  • twitter
  • linkedIn
  • instagram