Jack Ma के रिटायरमेंट के बाद कैसी होगी ‘Alibaba’ की आगे की राह?

  • by Staff@ TSD Network
  • September 11, 2019
jack-ma-retirement-alibaba

कंपनी के शुरुआती निर्माण के दिनों से उससे जुड़े रहने या कहें तो जिसने उस कंपनी को आज के इस मुकाम तक पहुँचाया हो, ऐसे शख्स के द्वारा कंपनी का अहम पद छोड़ने के बाद कुछ समय के लिए कंपनी अस्थिर और असमंजस में नज़र आने लगे तो इसमें आश्चर्य नहीं होना चाहिए।   

दरसल स्थापना के वक़्त से चले आ रहें सिद्धांतों और मूल्यों को अब तक साथ लेकर चलने वाला नेतृत्व जब उस पद को अलविदा कहता है, तो कंपनी के भविष्य और उसकी आगामी दिशा को लेकर तमाम अटकलें उसी वक़्त से शुरू हो जातीं हैं। और जो किसी न किसी हद तक जायज भी हैं।

ऐसा ही कुछ दिखने लगा है चीन आधारित दुनिया की जानी-मानी कंपनी अलीबाबा (Alibaba) को लेकर भी। जी हाँ! बीते मंगलवार को कंपनी के संस्थापक और चेयरमैन,जैक मा के पद छोड़ने के बाद से ही अलीबाबा के भविष्य को लेकर अटकलों का बाज़ार गर्म हो चुका है।

दरसल अब तक जैक मा ने इस कंपनी का निर्माण उस तकनीक के साथ किया, जो आज चीनी मार्शल आर्ट के उनके प्रेम से प्रेरित संस्कृति और मूल्य प्रणाली से जुड़ी हुई है। कंपनी के छह अंतर्निहित मूल्यों को एक लोकप्रिय कुंग फू तकनीक, “सिक्स वेन स्पिरिट स्वॉर्ड”  से प्रेरित बताया जाता रहा है, जिसके अनुसार “ग्राहक पहले,” “विश्वास,” “अखंडता,” “टीमवर्क,” “परिवर्तन को गले लगाओ” और “जुनून” जैसे मुख्य मूल्य शामिल हैं।

jack-ma-retirement-alibaba

लेकिन एक महान नेतृत्वकर्ता होने के नाते शायद जैक को यह एहसास था कि जब भी वह कंपनी के अहम पद को छोडेंगें तो उनकी बनायीं गई कंपनी के भविष्य और उसकी दिशा को लेकर बाज़ार एमिन असमंजस की स्थिति बन सकती है। और इसी को खत्म करने के लिए शायद कंपनी ने जैक के रिटायरमेंट के ऐलान के साथ ही आने वाले वर्षों के लिए एक नए विज़न को स्थापित करते हुए पुराने मूल्यों के और व्यापक निर्माण की घोषणा की।

दरसल इस ने विज़न के अंतर्गत कंपनी का मकसद “आगामी 102 वर्षों तक एक अच्छी कंपनी बने रहना” है।

दरसल इसके ऐलान के दौरान जैक ने बतौर कंपनी के चेयरमैन अपने अंतिम भाषण में कहा,

“21 वीं सदी में, चाहे आप कोई भी हों या आपका संगठन जो भी हो, आपको आकार और शक्ति का पीछा नहीं करना चाहिए। आपको अच्छा होना चाहिए। दयालुता सबसे मजबूत शक्ति है।”

नए डिजिटल युग’ के लिए कंपनी ने शुरू की तैयारी,

कंपनी ने कहा कि इसके छह नए मूल्य आगामी डिजिटल युग के लिए कंपनी की संस्कृति को मजबूत करते नज़र आयेंगें, जो क्रमशः हैं;

– ग्राहक पहले, कर्मचारी दूसरे, शेयरधारक तीसरे

– भरोसा सब कुछ सरल बनाता है

– परिवर्तन ही एकलौती स्थिरता है

– आज का सबसे अच्छा प्रदर्शन कल की आधार रेखा है

– यदि अब नहीं, तो कब?, अगर मैं नहीं, तो कौन?

– गंभीरता से जिएं, खुशी से काम करें

अलीबाबा का यह मूल मिशन आगामी डिजिटल युग में कहीं भी व्यापार करने को आसान बनाने के उद्देश्य से अपडेट किया गया है। इस पर जैक का कहना है, 

“वर्तमान तकनीकी क्रांति मानव इतिहास में सबसे गहरा परिवर्तन लाएगी। लेकिन साथ ही अगर आर्टिफीसियल इंटेलिजेंस, 5जी और इंटरनेट ऑफ थिंग्स (IoT) जैसी नई प्रौद्योगिकियां अगर  सतत विकास, समावेश और परोपकारिता जैसे तीन मूल्यों को बढ़ावा नहीं दे सकीं, तो यह व्यर्थ ही कही जायेंगी।”

चीन और दुनिया

जैक के अनुसार अलीबाबा की दो भूमिकाएँ हैं; पहना चीन की घरेलू मांग को बढ़ावा देना और दूसरा वैश्वीकरण में भाग लेना। जैक के अनुसार

“घरेलू मांग को प्रोत्साहित करने के लिए, हमें बाजार अर्थव्यवस्था पर भरोसा करने की जरूरत है, न कि सरकारी नियमों की। अगर चीन की घरेलू मांग ठीक नहीं है, तो इसके लिए अलीबाबा जिम्मेदार है।”

“दुनिया चीन से डरती है, तकनीक से डरती है, शक्तिशाली कंपनियों से डरती है। हमें उम्मीद है कि तकनीक दयालु है। हमें उम्मीद है कि तकनीक आशा लाएगी, निराशा नहीं।”

कंपनी से पूर्णतः दूर नहीं हुए जैक मा

भले ही जैक अलीबाबा के दिन-प्रतिदिन के कार्यों से दूर जा रहें हैं, लेकिन कंपनी पर और चीन के तकनीकी उद्योग पर हमेशा ही उनका एक बड़ा प्रभाव जारी रहेगा, ऐसी स्पष्ट संभवानाएं व्यक्त की जा रहीं हैं।

एक तरीके से कंपनी द्वारा एक नए दौर में प्रवेश किया जा रहा है, जैक के बाद का दौर और कंपनी के सामने इस दौर की मुख्य चुनौतियाँ भी नज़र आने लगीं हैं। जी हाँ! दरसल अधिकांश जानकारों का कहना है कि अलीबाबा के लिए नई चुनौती वैश्विक आर्थिक व्यवस्था से निपटने की होगी।

Facebook Comments
Staff@ TSD Network

Our hard-working staff writing team | You can reach us at 'contact@tsdnetwork.com'
  • facebook
  • twitter
  • linkedIn
  • instagram