विलुप्त प्राय लोकनाट्य करिंगा ‘तीन तूर में तीन रुपैया’ की मंचीय प्रस्तुति आज प्रयागराज में

  • by Staff@ TSD Network
  • August 25, 2019

संस्कृति मंत्रालय, भारत सरकार के सहयोग से सुविख्यात लोकनाट्य रचनाकार एवं लोक कलाविद् श्री राज कुमार श्रीवास्तव के निर्देशन में दिनांक 25 अगस्त 2019 को अपराहन 4:00 बजे स्थानीय उत्तर मध्य क्षेत्र सांस्कृतिक केंद्र, प्रयागराज के पेक्षागृह में विलुप्त लोकनाट्य करिंगा शैली में प्रस्तुति ‘तीन तूर में तीन रुपैया’ का मंचन किया जाएगा।

बीते समय में अन्य लोकनाट्यों की भांति ही लोकनाट्य करिंगा की प्रस्तुतियां उत्तर प्रदेश के ग्रामीण क्षेत्रों में बेहद लोकप्रिय थीं। लेकिन उचित संरक्षण, नीति एवं सम्मान के आभाव के चलते इनके कलाकार इस विधा से विमुख हो गये र धीरे-धीरे आज यह शैली मानों दुर्लभ हो चली है।

परंतु संस्कृति मंत्रालय, भारत सरकार की योजनांतर्गत इस प्रस्तुति के मंचन के माध्यम से श्री राज कुमार श्रीवास्तव एक बार फ़िर अपने प्रयासों के चलते इस शैली की भूली बिसरी कड़ियों को पुनः जोड़ दर्शकों तक पहुँचाने का प्रयास करेंगें।

अतः आपसे निवेदन है कि आप भी इस दुर्लभ लोकनाट्य करिंगा की प्रस्तुति के साक्षी बने और इन कलाकरों की हौसलाअफजाई करें। ताकि समाज में कभी सबसे पसंदीदा कलाओं में से एक यह कला हमारे आने वाले भविष्य में भी हमारी साथी बनी रहे।

इस कार्यक्रम के समन्वयक भी प्रयागराज के ही लोकप्रिय नुक्कड़ नाट्य अभिनय संस्थान के संचालक, कृष्ण कुमार मौर्य हैं। और इस कार्यक्रम से जुड़ी किसी भी अन्य जानकारी के लिए आप सीधे संस्थान के फेसबुक पेज पर भी जा सकतें हैं।

स्थान: उत्तर मध्य क्षेत्र सांस्कृति केंद्र, प्रयागराज

दिनांक: 25 अगस्त

समय: अपराहन 4:00 बजे

मीडिया पार्टनर: द सोशल डिजिटल

Facebook Comments
Staff@ TSD Network

Our hard-working staff writing team | You can reach us at 'contact@tsdnetwork.com'
  • facebook
  • twitter
  • linkedIn
  • instagram