January 26, 2020
  • facebook
  • twitter
  • linkedin
  • pinterest
  • instagram

मार्क जुकरबर्ग को फेसबुक चेयरमैन के पद से हटाने के लिए कंपनी नेतृत्व करेगा वोटिंग का इस्तेमाल?

  • by Team TSD
  • May 31, 2019

बीते कुछ समय से फेसबुक (Facebook) के लिए हर कई मायनों में मुश्किलें बढ़ती नज़र आ रहीं हैं। दरसल कुछ महीनों से चले जा रहे डेटा लीक और फ़ेंक न्यूज़ जैसी घटनाओं के चलते फेसबुक (Facebook) को दुनियाभर की सरकारों से फटकार पड़ी। 

यह सिलसिला हालाँकि थमता इससे पहले ही कंपनी के अंदर ही कंपनी नेतृत्व को लेकर दो तरह के विचार सामने आने लगे। कई बार फेसबुक में ही काम कर चुकें कई पूर्व शीर्ष अधिकारीयों ने यह तक भी कह डाला कि कंपनी के सीईओ मार्क जुकरबर्ग को चेयरमैन पद छोड़ देना चाहिए और नेतृत्व नए हाथों में सौंपना चाहिए। 

यह खबर कुछ महीनें पहले काफी तेजी से फ़ैली की शायद मार्क अपने पद से खुद ही इस्तीफ़ा दे दें। लेकिन तब फेसबुक से ही जुडें कुछ सूत्रों ने इस बात का खंडन करते हुए बताया कि यह सभी अटकलें निराधार हैं। मार्क कंपनी में अपने पद पर बरक़रार रहेंगें।  

लेकिन कहते हैं न अटकलों का भी कोई न कोई आधार जरुर होता है। इन ख़बरों के बाद यह तो साफ़ हो गया कि कंपनी के भीतर सब कुछ ठीक नहीं है और ख़ासकर शीर्ष नेतृत्व और उससे जुड़ें लोगों के बीच। 

लेकिन एक बार फ़िर इस खबर को बल तब मिला जब बीते गुरुवार को इस सोशल नेटवर्किंग दिग्गज कंपनी की वार्षिक आम बैठक में मार्क द्वारा पद पर बने रहने के लिए वोटिंग का सामना किये जाने की संभावनाएं व्यक्त किये जाने लगीं। 

हालाँकि एक प्रतिष्ठित न्यूज़ एजेंसी के अनुसार इन संभावनाओं की खबर ख़ुद जुकरबर्ग को थी लेकिन उन्होंने इसको इसलिए भी इतनी गंभीरता से नहीं लिया क्यूंकि वोटिंग का कोई खास असर फ़ैसले में नहीं पड़ सकता था क्योंकि जुकरबर्ग कंपनी के 60 प्रतिशत शेयर के मालिक हैं।

लेकिन यह जरुर है कि पद पर बने रहने के लिए वोटिंग यह जरुर साबित कर देती कि कंपनी के शेयरधारकों का अब कंपनी के नेतृत्व में कितना विश्वास बचा है।

दिलचस्प यह है कि जो गुट कंपनी में जुकरबर्ग को चेयरमैन के पद से हटने का समर्थन करता है, उनका तर्क यह है कि ऐसा करने से जुकरबर्ग को ही कंपनी चलाने पर ध्यान केंद्रित करने में मदद मिलेगी। क्योंकि फ़िलहाल वह सीईओ और चेयरमैन दोनों का पद संभाल रहे हैं। और एक जिम्मेदारी होने से वह काम पर अधिक ध्यान दे सकेंगें। 

इस बीच हम आपको बता दें कि फेसबुक (Facebook) में लगभग 7 मिलियन डॉलर के शेयरों की हिस्सेदारी रखने वाली ट्रिलियम एसेट मैनेजमेंट (Trillium Asset Management) ज़करबर्ग के पद छोड़ने की वकालत करने वालों में से एक है। और उसको कुछ ने शेयरधारकों का भी समर्थन प्राप्त है।  

हालाँकि इस बीच जुकरबर्ग का इरादा कहीं से भी चेयरमैन या कोई भी कंपनी पद छोड़ने का नहीं लगता है। दरसल जिस प्रकार हाल ही में हुए उपयोगकर्ता प्राइवेसी विवाद को लेकर या गुट जुकरबर्ग पर चेयरमैन पद छोड़ने का दवाब बना रहा है, वहीँ जुकरबर्ग का समर्थन कर्नर वाले गुट का भी कहना है कि प्राइवेसी मुद्दे को लेकर अभी कंपनी को जुकरबर्ग जैसे सुरक्षित हाथों की जरूरत है।

Facebook Comments
Team TSD

A hard-working team, full of creativity, innovation, and knowledge of digital media. | You can reach us at contact@thesocialdigtial.com
  • facebook
  • twitter
  • linkedIn
  • instagram

Like & Follow us on Facebook







Don`t copy text!