2 अगस्त को आयोजित ‘संगोष्ठी’ में शामिल होकर पाइए मौका ‘प्रेमचंद के साहित्य में आज के समाज’ को तलाशने का

  • by Staff@ TSD Network
  • July 28, 2019
प्रयागराज

प्रयागराज: हमेशा से बुद्धिजीवियों के बीच यह बहस चली आ रही है कि आखिर साहित्य समाज से अधिक प्रभावित होता है, या समाज साहित्य से? इस बहस में दोनों पक्षों से हमेशा ही ऐसे तर्क सामने आते हैं जिन्हें पूरी तरह से निराधार नहीं कहा जा सकता है।

हालाँकि! इस बहस का नतीजा कुछ भी हो लेकिन आप कभी भी इस बात को नकार नहीं सकते हैं कि साहित्य से समाज अक्सर झाँकता नज़र आ ही जाता है।

और दौर कोई भी हो अगर साहित्य की बात की जाए और उसमें मुंशी प्रेमचंद्र जी का जिक्र न हो, ऐसा संभव ही नहीं है। तो ऐसे में साहित्य से झांकते उस समाज के विश्लेषण के लिए भला प्रेमचंद्र जी की जयंती से सुनहरा अवसर क्या होगा।

और इसी के चलते इस बार मुंशी प्रेमचंद की जयंती के उपलक्ष में 2 अगस्त को प्रयागराज स्थित नुक्कड़ नाट्य अभिनय संस्थान द्वारा  संगोष्ठी का आयोजन किया जा रहा है, जिसका विषय होगा ‘प्रेमचंद्र का साहित्य और आज का समाज।’

इस मौके पर उत्तर प्रदेश लोकसेवा आयोग के पूर्व अध्यक्ष, प्रो. के. बी. पांडेय इस आयोजन की अध्यक्षता करते नज़र आयेंगें। वहीँ उनके साथ ही इलाहाबाद विश्व विद्यालय के सेंटर ऑफ़ मीडिया स्टडीज विभाग के समन्वयक – डॉ. धनंजय चोपडा, लोककलाविद् – श्री अतुल यदुवंशी, प्रसिद्ध कवि – डॉ. श्लेष गौतम, सी. एम. पी. के हिंदी विभाग के विभागाध्यक्ष – डॉ. सरोज सिंह भी मौजूद होंगे।

संयोजक:

संतोष कुमार गुप्ता (9956108093)

कृष्ण कुमार मौर्य (6307003464)

दिनांक: 2 अगस्त 2019

समय: सांय 3 बजे से

स्थान: विज्ञान परिषद प्रयाग, कंपनी गार्डन गेट नंबर 4 के सामने

Facebook Comments
Staff@ TSD Network

Our hard-working staff writing team | You can reach us at 'contact@tsdnetwork.com'
  • facebook
  • twitter
  • linkedIn
  • instagram