Ola के संस्थापकों के बीच विवाद गहराया, अंकित भाटी छोड़ सकतें हैं CTO का पद: रिपोर्ट

  • by Staff@ TSD Network
  • October 12, 2019
Ankit-bhati-Ola

Foodpanda और Ola के मर्जर के वक़्त से Ola के संस्थापकों यानि भाविश अग्रवाल और अंकित भाटी के बीच विवाद की खबरें आने लगी थी। रुकिए! दरसल शायद आपने अंकित भाटी का नाम कम ही सुना होगा और कम लोगों को ही पता होगा कि अंकित भाटी भी Ola के संस्थापकों में से एक हैं।

जी हाँ! Ola के सह-संस्थापक और CTO अंकित भाटी, जो कंपनी के सीईओ भाविश अग्रवाल की तुलना में बहुत कम ही सुर्ख़ियों में रहते हैं, वह कंपनी में परिचालन और टेक संबंधित कार्यों को हेड करते हैं। लेकिन फ़िलहाल सूत्रों का कहना है कि अंकित फ़िलहाल भाविश अग्रवाल से खुश नहीं है।

दरसल इसका एक जायज कारण भी है। उस कारण का नाम है Ola का नया प्रोजेक्ट मलतब एक नहीं कंपनी Ola Electric, जो इलेक्ट्रिक वाहन संबंधी उद्देश्यों के साथ आगे बढ़ रही है।

दरसल मनीकंट्रोल की एक रिपोर्ट के अनुसार Ola Eelctric परियोजना के लिए भाटी को मूल इकाई ANI Technologies में एक छोटे हिस्से को छोड़कर किसी भी हिस्सेदारी की पेशकश नहीं की गई थी।

और इसके विपरीत कंपनी के सीईओ भाविश अग्रवाल ने Ola Electric में 92% महज़ 92, 500 रुपये में हासिल कर ली। और सबसे खास तो यह है कि Ola Electric में अग्रवाल के हिस्सेदारी हासिल करने के कुछ ही हफ्तों बाद Softbank, Tiger Global और Matrix जैसे बड़े निवेशकों से इस कंपनी ने एक बड़ा फंड हासिल किया और देखते ही देखते यह कंपनी तुरंत एक यूनिकॉर्न में बदल गई।

और यही बात अंकित भाटी को पसंद नहीं आई और जिसके चलते अब उन्होंने खुद को कंपनी के परिचालन और दिन-प्रतिदिन के ऑपरेशन से दूर करना शुरू कर दिया है।

Ankit-bhati-Ola

दरसल गौर करने वाली एक बात यह भी है कि दोनों संस्थापकों के बीच यह विवाद कोई नया नहीं है, दोनों के बीच विवादों का सिलसिला FoodPanda और Ola के एकीकरण के समय से ही शुरू हो गया था।

इस विलय के वक़्त प्लेटफ़ॉर्म पर कुछ तकनीकी गड़बड़ियां सामने आईं और जिसकी वजह से भाविश अग्रवाल ने कथित तौर पर अपना आपा खो दिया और अंकित भाटी के साथ अच्छा व्यवहार नहीं किया। जिसके चलते दोनों के बीच मनमुटाव रहा और जो मीडिया में काफी चर्चा का विषय भी बना।

लेकिन अब Ola Electric में भी अंकित भाटी की अनदेखी के बाद अब इस मनमुताव को के और कारण मिल गया है। जी हाँ! एक बार फ़िर से भाटी को ऐसा लग रहा है कि भाविश अग्रवाल ने उन्हें तव्वजों नहीं दी। और इसलिए अब खबर यह है कि वह Ola में अपने CTO के पद से इस्तीफ़ा दे सकतें हैं।

हालाँकि इस खबर की अभी किसी भी ओर से पुष्टि नहीं की गई है और Ola ने ऐसी किसी भी अटकलों पर इंकार कर दिया है। साथ ही अभी तक भाटी की ओर से किसी भी सार्वजानिक मंच पर इसका ऐलान नहीं किया गया है।

लेकिन कारणों को देखते हुए यह बेशक ही संभव नज़र आता है। और अगर यह सच होता है तो Ola को इससे खासा नुकसान हो सकता है।दरसल यह एक ऐसा वक़्त है जब कंपनी एक बड़े निवेश की तलाश में है।

दरसल वर्तमान समय में भारत में Ola का सबसे बड़ा प्रतिद्वंदी Uber काफी तेजी से Ola की बाज़ार हिस्सेदारी में सेंध कर रहा है और इसके चलते Ola नए निवेश के जरिये अपनी बाज़ार हिस्सेदारी को बनाये रखते और इसके विस्तार की योजना बना रही है।

आपको बता दें कि हाल ही की एक रिपोर्ट के मुताबिक अब Ola जहाँ भारतीय कैब बाज़ार क्षेत्र में 55% की हिस्सेदारी रखता है वहीँ Uber ने अब अपनी हिस्सेदारी को बढाकर 45% तक बढ़ा दिया है।

खैर! अब देखना यह है कि Ola संस्थापकों के बीच यह कथित विवाद आगे जाकर क्या रूप लेता है। और क्या नौबत अंकित के CTO पद त्यागने से लेकर कंपनी को पुर्णतः छोड़ने तक भी आ सकती है?

फ़िलहाल कुछ कहा नहीं जा सकता है, इस बीच खबरों में अटकलों का बाज़ार काफी गर्म है और अगर ये अटकलें वास्तविकता का रूप लेती हैं, तो यह कंपनी के लिए काफी मुश्किल साबित होगा।

 

Facebook Comments
Staff@ TSD Network

Our hard-working staff writing team | You can reach us at 'contact@tsdnetwork.com'
  • facebook
  • twitter
  • linkedIn
  • instagram