OYO पर लगे ‘फ़ेंक होटल लिस्टिंग’ और ‘पुलिस को रिश्वत’ देने के आरोप

  • by Staff@ TSD Network
  • January 4, 2020

अक्सर आपने सुना होगा कि OYO खुद को भारत और चीन में सबसे बड़ी होटल चेन बताने के साथ ही साथ दुनियाभर के 80 देशों में लगभग 1.2 मिलियन कमरे होने का दावा करता है। लेकिन क्या ये आँकड़ा सही है?

दरसल न्यूयॉर्क टाइम्स ने अपनी एक रिपोर्ट में यह जाहिर किया है कि OYO अपने निवेशकों को रिझाने के लिए अपने ऐप प्लेटफ़ॉर्म पर फ़ेंक होटल लिस्टिंग करता है। आपको बता दें न्यूयॉर्क टाइम्स के संवाददाताओं ने यह ख़ुलासा कथित रूप से OYO के कर्मचारियों से की गई पूछताछ के आधार पर किया है।

कथित तौर पर OYO के कर्मचारियों के साथ इस पूछताछ/साक्षात्कार के दौरान बताया कि उनके अधिकारीयों द्वारा नए कमरों को प्लेटफ़ॉर्म में जोड़ने के लिए काफी दवाब बनाया जाता है। इतना ही नहीं, उनके मैनेजर कई बार उन्हें गलत लिस्टिंग करने के भी आदेश देते हैं।

साथ ही उन्हें नकली तस्वीरें डालने के लिए भी कहा जाता है ताकि निवेशकों को प्रभावित किया जा सके। कर्मचारियों ने कथित रूप से माना कि ऐसे होटल भी प्लेटफ़ॉर्म में इन-लिस्ट किये गये हैं, जो असल में मौजूद ही नहीं है।

OYO पर शक के कारण:

1. OYO पर एक हजार से अधिक कमरे बिना लाइसेंस के इनलिस्ट किये गये हैं।

2. OYO पर पुलिस अधिकारियों को रिश्वत के रूप में मुफ्त बुकिंग देने का भी शक जताया जा रहा है।

3. OYO कर्मचारियों ने कथित रूप से बताया कि कई बार जानबूझकर होटल मालिकों को भुगतान नहीं दिया जाता है।

4. OYO जापान में अपने सौदों को लेकर संघर्ष करता नज़र आ रहा है, क्योंकि वह अपने तय टारगेट को पूरा नहीं कर सका है।

5. OYO ने अपने 1000 चीनी कर्मचारियों को निकाल दिया है और ऐसा माना जा रहा है कि जल्द ही 2000 भारतीय कर्मचारियों को भी कंपनी से निकाला जा सकता है।

6. OYO को साल 2019 में 2285 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है।

Facebook Comments
Staff@ TSD Network

Our hard-working staff writing team | You can reach us at 'contact@tsdnetwork.com'
  • facebook
  • twitter
  • linkedIn
  • instagram