COVID-19 के लड़ने के लिए Paytm ने बनाया ₹5 करोड़ का फंड; मेडिकल इनोवेशन के लिए आप माँग सकतें हैं मदद

  • by Staff@ TSD Network
  • March 23, 2020

Paytm के सीईओ विजय शेखर शर्मा द्वारा हाल ही में ही अपने 2 महीनें के वेतन को न लेकर उसको कर्मचारियों के हित में इस्तेमाल करने की घोषणा की थी।

लेकिन देशभर में तेजी से बढ़ते कोरोना वायरस (COVID-19) के संक्रमण मामलों के चलते अब Paytm ने एक और अहम कदम की घोषणा की है। स्वाभिक रूप से देश के सामने इस वायरस के संक्रमण को सामुदायिक स्तर पर फ़ैलने से रोकना एक बड़ी चुनौती है। क्यूंकि अगर ऐसा नहीं हुआ तो देश में चिकित्सा कर्मचारियों, उपकरणों और अन्य जरूरी सामानों की काफ़ी कमी हो सकती है और हालात बेहद बिगड़ सकतें हैं।

और इसलिए तैयारी को पुख्ता करने के मकसद से अब Alibaba समर्थित डिजिटल भुगतान कंपनी Paytm ने मेडिकल इनोवेशन के लिए 5 करोड़ रूपये के फंड का ऐलान किया है।

 

दरसल विजय ने प्रतिष्ठित भारतीय विज्ञान संस्थान (IISc) बैंगलोर के एक प्रोफेसर गौरब बनर्जी के एक ट्वीट को री-ट्वीट करते हुए यह ऐलान किया। अपने ट्वीट में बैनर्जी को पूरे देश में बायो मेडिकल इंजीनियरों से अपील करते हुए कहा था कि

“हम वेंटिलेटर प्रोटोटाइप बनाने में हमारी मदद करने में सक्षम इंजीनियरों से जुड़ने का आग्रह कर रहें हैं। हम IISc बैंगलोर के एयरोस्पेस और इलेक्ट्रिकल/इलेक्ट्रॉनिक इंजीनियर्स की एक छोटी सी टीम है, जो COVID-19 के गंभीर हालातों में भारत में मौजूद साधनों का प्रयोग करते हुए वेंटिलेटर प्रोटोटाइप बनाने की कोशिश कर रही है। तो अगर आपके पास इससे जुड़ा अनुभव है, तो कृपया हमसें जुड़, सहयोग प्रदान करें।”

आपको बता दें अगर आप भी COVID-19 से संबंधित कोई मेडिकल समाधान की दिशा में काम कर रहें हैं तो Paytm को covidcure@paytm.com पर ईमेल कर सकते हैं।

इस बीच भारत में कोरोना वायरस के संक्रमण का आंकड़ा 400 तक पहुँच गया है। भारतीय रेलवे ने 31 मार्च, 2020 तक देश की सभी यात्री रेलों को बंद करने की घोषणा भी कर दी है। साथ ही राजस्थान, पंजाब, दिल्ली और उत्तर प्रदेश समेत देश के कई राज्यों ने 31 मार्च तक के लिए लॉकडाउन का ऐलान भी कर दिया है।

इस बीच बेशक विजय शेखर शर्मा मौजूदा समय में देश के उन सबसे अधिक सक्रिय उद्यमियों में से एक रहे हैं, जो इस कोरोना वायरस के प्रकोप की स्थिति में मदद के लिए हाथ आगे बाधा रहें हैं।

दरसल मौजूदा हालातों में दिहाड़ी कर्मचारियों के लिए मुश्किलें खड़ी होती जा रहीं हैं, जिसके चलते कई राज्य सरकारें और कंपनियां और लोग इनकी मदद को लेकर आगे आ रहें हैं।

Facebook Comments
Staff@ TSD Network

Our hard-working staff writing team | You can reach us at 'contact@tsdnetwork.com'
  • facebook
  • twitter
  • linkedIn
  • instagram