May 31, 2020
  • facebook
  • twitter
  • linkedin
  • pinterest
  • instagram
pregnant-woman-her-husband-forced-to-walk-over-100km-without-food-rescued-by-locals

गर्भवती महिला और पति भूखे 100 किलोमीटर तक चलने को मजबूर: स्थानीय लोगों ने की मदद

  • by Team TSD
  • March 30, 2020

आठ महीनें की गर्भवती महिला और उसके पति को मालिक द्वारा बिना पैसे दिए निकाले जाने के बाद यह लोग सहारनपुर से बुलंदशहर तक पैदल जाने को मजबूर हो गये।

हालाँकि अगर समाज में ऐसे कुछ लोग हैं जिनमें शायद इंसानियत नाम की चीज़ तक नहीं, तो वहीँ कुछ ऐसे मददगार भी हैं, जिन्होंने अभी भी खुद को सार्थक इंसान बना रखा है। दरसल 100 किलोमीटर की अपनी यात्रा को पूरा कर मीरुत तक पहुँचने के बाद वहां स्थानीय लोगों को जब इस बात का पता लगा तो उन्होनें इन दोनों की पैसों और खाने के जरिये सहायता करने के साथ ही उनके लिए एक एम्बुलेंस की भी पेशकश की

हिंदुस्तान टाइम्स की एक रिपोर्ट के मुताबिक स्थानीय निवासी नवीन कुमार और रवींद्र ने शनिवार को मेरठ के सोहराब गेट बस अड्डे पर पहुंचे दंपत्ति, वकिल और यासमीन को देखा और उनकी समस्या के बारे में नौचंदी पुलिस स्टेशन में एक सब इंस्पेक्टर प्रेमपाल सिंह को सूचित किया।

नौचंदी पुलिस स्टेशन के प्रभारी आशुतोष कुमार ने बताया कि स्थानीय  लोगों ने इस दंपती को खाने और कुछ नगद राशि देने के अलावा एम्बुलेंस से उन्हें उनके गाँव अमरगढ़ (सिवाना, बुलंदशहर) में छोड़ने की व्यवस्था भी की।

इंस्पेक्टर ने बताया कि वकिल एक कारखाने में कार्यरत था और उसने दो दिनों में अपनी पत्नी के साथ यह 100 किमी की दूरी तय की। वहीँ यासमीन ने पुलिस को बताया कि;

“हम एक कमरे में रहते थे, जो उन्हें कारखाने के मालिक ने दिलवाया था। लेकिन उसने हमें लॉकडाउन की घोषणा के बाद इसे खाली करने के लिए कहा और हमारे गांव जाने के लिए हमें कोई पैसा देने से इनकार कर दिया।”

“कोई रास्ता न होने के कारन हम पैदल ही चलने को मजबूर हो गये। लेकिन रास्ते के किनारे सब ढाबे और रेस्तरां बंद होने के कारण पिछले दो दिनों से उन्होनें कुछ नहीं खाया था।”

दरसल कोरोनावायरस महामारी के प्रसार को रोकने के लिए मंगलवार को घोषित तीन सप्ताह के लॉकडाउन के बाद लाखों प्रवासी मजदूर बेरोजगारी, पैसे के न होने, भूख और दर के चलते सैकड़ों किलोमीटर पैदल चलकर अपने गांवों में जाने के लिए मजबूर हैं।

फीचर इमेज सोर्स: हिंदुस्तान टाइम्स

हमारी इस कवरेज को अधिक से अधिक शेयर करें ताकि समाज के हर तबके जो किसी भी माध्यम से इंटरनेट का इस्तेमाल कर रहा है, उन तक प्रमाणिक जानकरियों को पहुँचाया जा सके! इस मुश्किल घड़ी में आपका एक शेयर भी किसी के लिए मददगार साबित हो सकता है। 


जरूरी सूचना: कोरोना वायरस (COVID-19) के भारत में असर से जुड़ी सभी अधिकारिक और सत्यापित ख़बरों के लिए The Social Digital ने COVID-19 Impact नाम से फुल कवरेज़ की शुरुआत की है, ताकि आप तक सटीक और सभी जरूरी जानकारी पहुँचायीं जा सकें, कोरोना वायरस से जुड़े सरकार और कारोबार जगत की हर अपडेट के लिए अभी पढ़े…यहाँ क्लिक करें!

Facebook Comments
Team TSD

A hard-working team, full of creativity, innovation, and knowledge of digital media. | You can reach us at thesocialdigital@gmail.com
  • facebook
  • twitter
  • linkedIn
  • instagram
Don`t copy text!