शायद आज देश को है ऐसे ही राजनीतिक परिवेश की जरूरत, जैसी मिसाल प्रियंका गाँधी ने कायम की

  • by Staff@ TSD Network
  • May 14, 2019

भारतीय राजनीति की शुरुआत भले ही आज आदर्श बन चुके आचरणों के साथ हुई हो, लेकिन वर्तमान समय तक परिस्थितियों में काफ़ी परिवर्तन हुआ है।

यह परिवर्तन अधिकांश रूप से सुखद नहीं कहा जा सकता। जिस प्रकार से राजनेताओं द्वारा एक दूसरे पर भद्दी टिप्पणियों के सिलसले आम से होते जा रहें हैं, उससे सबसे बड़ा प्रभाव जिन पर पड़ रहा है, वह हैं ज़मीनी स्तर पर कार्यरत कार्यकर्ता।

जी हाँ! दरसल बड़े राजनेताओं और सरकार पर शीर्ष पदों में बैठे लोगों के नफ़रत भरे भाषणों और एक दूसरे पर भद्दी टिप्पणियों से ज़मीनी कार्यकर्ताओं की ऐसी धारणा बन जाती है कि पार्टी की वर्तमान राजनीतिक विचारधारा ही यही है, और इसको ही उन्हें आगे बढ़ना है। और यही कारण है कि वह जमीनी स्तर पर इसी नफ़रत और आक्रोश से भरी विचारधाराओं को बढ़ावा देने लग जाते हैं और समाज को बुरी तरह प्रभावित करते हैं।

दरसल कार्यकर्ताओं को ऐसा लगता है कि यही जरिया है पार्टी / राजनीति में बड़े स्तर तक पहुंचनें का, क्यूंकि ऐसी विचारधारा को बढ़ाने वाला नेता आज शीर्ष स्तर पर कायम है।

इसलिय हमेशा से ही राजनेताओं के विषय में कहा जाता है कि हर राजनेता की पहली ज़िम्मेदारी है कि वह समाज को मजबूत और एकजुट बनाने वाली विचारधारा का सिर्फ़ लफ्ज़ों से ही नहीं बल्कि अपने आचरण से भी अनुसरण करे। और यही आज की राजनीति में कहीं न कहीं लुप्त होता सा नज़र आता है।

लेकिन आज भले ही छोटे स्तर पर ही सही लेकिन देश की एक बड़ी राजनीतिक पार्टी से संबंधित प्रियंका गाँधी वाड्रा ने उसी आदर्शवादी राजनीति की याद जरुर दिलाई।

दरसल मध्य प्रदेश के इंदौर में जैसे ही प्रियंका गांधी का काफिला सड़क से गुजर रहा था,  तभी सड़क किनारे खड़े लोग ‘मोदी-मोदी’ के नारे लगाए। जिसके बाद प्रियंका गांधी अपनी गाड़ी रुकवाकर नारे लगा रहे लोगों के पास पहुंची, और हंसकर उनसे गर्मजोशी से हाथ मिलाते हुए उनका भी अभिनंदन किया।

दरसल यही असल राजनीति में राजनेताओं का स्वाभाविक आचरण होना चाहिए। लेकिन समझिये की ये आचरण भी आज के समय में कितना अपवाद बन गया है कि महज़ यह छोटी स्वाभाविक चीज़ भी सनसनीखेज हेडलाइन बन गई।

Facebook Comments
Staff@ TSD Network

Our hard-working staff writing team | You can reach us at 'contact@tsdnetwork.com'
  • facebook
  • twitter
  • linkedIn
  • instagram

Leave a Reply