January 26, 2020
  • facebook
  • twitter
  • linkedin
  • pinterest
  • instagram
JioFiber Broadband Mukesh Ambani

Jio Fiber के आने से क्या Reliance Jio तक ही सिमट जाएगा भारतीय डिजिटल बाज़ार?

  • by Ashutosh Singh
  • August 16, 2019

रिलायंस (Reliance) की 42वीं वार्षिक आम सभा में इस बार मुंबई के बिड़ला मातोश्री सभागार में रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी ने कंपनी की महत्वकांक्षी योजनाओं को लेकर कई घोषणाएं की। इनमें से सबसे खास रहा जियो फाइबर (Jio Fiber)।

दरसल Jio Fiber के जरिये कंपनी का मोबाइल इंटरनेट क्षेत्र में वर्चस्व कायम करने के बाद अब देश में फाइबर इंटरनेट (ब्रॉडबैंड) क्षेत्र पर भी अपनी लुभावनी सुविधाओं के जरिये एक बड़ा बदलाव लाना चाहती है।

कहा जा रहा है कि इसके जरिये कंपनी का मकसद 100 MBPS से लेकर 1 GBPS तक की स्पीड वाली ब्रॉडबैंड सुविधा को भारत के हर घर तक पहुँचाने का है। लेकिन हर बार की तरह इस बार भी रिलायंस (Reliance) की यह योजना भी किसी एक आयाम तक सिमटी नज़र नहीं आती है।

हम आपको बता दें कि रिलायंस इंडस्ट्रीज के मालिक मुकेश अंबानी ने इस कार्यक्रम में यह भी जानकारी दी कि करीब एक साल पहले जियो गीगाफाइबर ब्रॉडबैंड सेवा को लॉन्च किया गया था। और अब तक इसमें देशभर के 1600 शहरों से करीब डेढ़ करोड़ रजिस्ट्रेशन हो चुकें हैं। साथ ही कंपनी ने करीब 5 लाख घरों को अपनी ब्रॉडबैंड इंटरनेट सेवा से कर इसकी टेस्टिंग शुरू कर दी है। अब जियो फाइबर (Jio Fiber) ब्रॉडबैंड सेवा 5 सितंबर से देशभर के ग्राहकों के लिए भी उपलब्ध हो जाएगी।

JioFiber Broadband Mukesh Ambani

वाईफाई, सेटअप बॉक्स, Amazon Prime, Netflix, अनलिमिटेड लोकल एंड इंटरनेशनल कॉल जैसी सुविधाएं सिर्फ़ एक पैक में;

जी हाँ! जियो गीगा फाइबर (Jio GigaFiber) से बदलकर जियो फाइबर (Jio Fiber) की गई इस सुविधा के अंतर्गत आपको इंटरनेट, टेलीफोन के साथ-साथ टीवी सेटअप बॉक्स की भी सुविधा देगा। इस सेटअप बॉक्स को आप जियो फाइबर से जोड़ सकेंगें और साथ ही टीवी पर न पारंपरिक चैनलों के अलावा नेटफ्लिक्स (Netflix), अमेजन प्राइम (Amazon Prime), और जियो सिनेमा (Jio Cinema) जैसी सुविधाएं भी प्रदान की जायेंगी।

इसका साफ़ सा मलतब है जहाँ पहले लोगों को वाई-फाई, टीवी और लैंडलाइन के लिए अलग-अलग खर्च करना पड़ता था, वो अब नहीं करना पड़ेगा।

DTH और BSNL जैसी कंपनियों को होगा सीधा नुकसान

लेकिन इस सुविधा के आने के बाद से यह तो साफ़ है कि इसका सीधा असर DTH कंपनियों पर पड़ेगा। और मोटे तौर पर बीएसएनएल (BSNL) जैसी कंपनियों इस सुविधा के चलते सबसे अधिक नुकसान उठाना पड़ सकता है।

दरसल बीएसएनल की लैंडलाइन फ़ोन सुविधाओं का आधार आज भी देश में काफ़ी बड़ा है, लेकिन एक बार Jio Fiber के आने के बाद लैंडलाइन फोन उपयोगकर्ता भी इसी की ओर रुख करेंगें।

बीएसएनएल पहले से ही काफ़ी नुकसान झेलता नज़र आ रहा है। कंपनी का हाल बहुत अच्छा नहीं है, और जियो फाइबर (Jio Fiber) भी सीधे तौर पर बीएसएनएल को चुनौती देता नज़र आ रहा है, जिसका सीधा नुकसान बीएसएनएल को होता नज़र आ सकता है।

इस बीच हम आपको बता दें कि लैंडलाइन फोन से अनलिमिटेड कॉल के साथ ही साथ आपको इंटरनेशनल कॉल्स पर भी काफी रियायत दी जा रही है। इसके अंतर्गत आप 500 रुपए महीना देकर अमेरिका और कनाडा जैसे देशों में अनलिमिटेड कॉल कर सकेंगे।

एक बार फ़िर क़ीमतों ने लोगों को चौंकाया

कंपनी की इस जियो फाइबर (Jio Fiber) नामक सुविधा की शुरुआत 700 रुपये से 10,000 रुपये प्रतिमाह तक में होगी। इसके साथ ही जियो फॉरएवर (वार्षिक) प्लान चुनने वाले वाले ग्राहकों को 4K TV और 4K सेट टॉप बॉक्स मुफ्त दिया जाएगा। इसके साथ ही इस पर आपको दुनिया के कई जाने-माने गेम भी उपलब्ध मिलेंगें। साथ ही जियो फाइबर में प्रीमियम OTT एप्लीकेशन भी प्रदान किया जाएगा। और एक सबसे ख़ास घोषणा यह कि 2020 के मध्य तक जियो फाइबर के प्रीमियम ग्राहकों को फिल्म की रिलीज़ के दिन ही उसे देखने की सुविधा प्रदान की जाएगी, जिसको जियो द्वारा ‘फर्स्ट डे, फर्स्ट शो’ का नाम दिया गया है।

भारत के डिजिटल बाज़ार को अपनी मुठ्ठी में कर लेगा Reliance Jio?

आपको तो याद ही होगा कि टेलीकॉम सेक्टर में अपने प्रवेश के साथ ही Reliance Jio ने इस क्षेत्र में एक प्राइस वॉर छेड़ दिया था, जिससे Airtel और Idea जैसी पुरानीं और बड़ी कंपनियों को एक बड़ा झटका लगा था। हालाँकि उपभोगताओं के लिहाज़ से Jio ने इस क्षेत्र में एक बड़ी क्रांति लाई। एक ऐसा बदलाव जिसने पूरे टेलीकॉम सेक्टर को बदल कर रख दिया।

और अब अपने Jio Fiber नामक इस सुविधा के चलते Jio डीटीएच, वाई-फाई और लैंडलाइन टेलीफोन इंडस्ट्री में एक ऐसे ही बड़े बदलाव की उम्मीद कर रहा है।

लेकिन इससे एक ख़तरा भारतीय डिजिटल बाज़ार के पूरी तरीके से Reliance Jio पर निर्भर होने का भी बन सकता है। कंपनी के उचित कदम की सराहना होनी चाहिए, क्यूँकि यह क़दम तारीफ़ के काबिल है भी। लेकिन सरकार को और सरकारी नियामक ईकाइयों को यह भी सुनिश्चित करते रहना होगा कि उपभोक्ता के हित के लिए बाजार और उसमें एक से ज्यादा खिलाड़ी बने रहें। बाज़ार बना रहे।

आप अपने विचार नीचे कमेंट बॉक्स पर हमारे साथ अवश्य साझा करें!

धन्यवाद!

Facebook Comments
Avatar

Serial Digital Entrepreneur | Digital Marketing Consultant | E.V. Consultant | Contact at 'amicableashutosh@gmail.com'
  • facebook
  • twitter
  • linkedIn
  • instagram

Like & Follow us on Facebook







Don`t copy text!